पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों में किसे मिली कितनी सीटें।

पांच राज्यों में किसे मिली कितनी सीटें और कितने वोट।

न्यूज़टुडे हिमाचल बीयूरो 12 दिसंबर

मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान में कांग्रेस ने शानदार प्रदर्शन किया है. मध्य प्रदेश में जहां कांग्रेस ने 15 साल का सूखा खत्म किया है तो वहीं छत्तीसगढ़ में रिकॉर्ड वापसी की है. मध्य प्रदेश में कांग्रेस जहां सिर्फ दो सीट से बहुमत से चूक गई लेकिन कांग्रेस नेता दावा कर रहे हैं कि सरकार बनाएंगे. राजस्थान में सत्ता परिवर्तन की परंपरा बरकरार रही है. राजस्थान में अशोक गहलोत के अनुभव और सचिन पायलट के जोश का कॉकटेल कांग्रेस के लिए मैजिक कर गया. तेलंगाना में जहां जनता को कांग्रेस-टीडीपी गठबंधन रास नहीं आया और एक बार फिर केसीआर पर भरोसा जताया है. वहीं मिजोरम हाथ से निकलते ही पूर्वोत्तर में कांग्रेस का सूपड़ा साफ हो गया है.

मध्य प्रदेश: कुल सीटे-230
बीजेपी- 109 सीट वोट शेयर (41.0%)
कांग्रेस- सीटें 114, वोट शेयर (40.9%)
अन्य- सीटें 07, वोट शेयर (12.1%)

मध्य प्रदेश में कांग्रेस के लिए सरकार बनाना कोई मुश्किल काम नहीं है. दरअसल एसपी ने पहले ही कांग्रेस को समर्थन का एलान किया है. वहीं सूत्रों के हवाले से खबर है कि मायावती ने भी कांग्रेस के साथ जाने का मन बना लिया है. वहीं चार निर्दलीय भी कांग्रेस के बागी हैं, इसलिए उन्हें अपने पाले में लाने में भी कांग्रेस को ज्यादा मुश्किल नहीं होगी. इसके साथ ही लोगों की दिलचस्पी इस बात पर भी है कि कांग्रेस आलाकमान किसे सीएम की कुर्सी पर बैठाता है. कमलनाथ और सिंधिया दोनों ही रेस में हैं.

*राजस्थान: कुल सीट-199
बीजेपी- सीटें 73, वोट शेयर (39.0%)
कांग्रेस- सीटें 99, वोट शेयर (40.2%)
अन्य- सीटें 26, वोट शेयर (20.8%)

राजस्थान में वसुंधरा राजे ने कहा हार मान ली है और कहा है कि जनता की आवाज को विधानसभा में उठाएंगी. राजस्थान में सरकार बदलने की परंपरा बरकरार है. कांग्रेस के लिए अब मुख्यमंत्री चुनने की बारी है, जिसमें अशोक गहलोत और सचिन पायलट रेस में हैं.

छत्तीसगढ़: कुल सीट-90
बीजेपी- सीटें 15, वोट शेयर (31.9%)
कांग्रेस- सीटें 68, वोट शेयर (46.6%)
अन्य- सीटें 7, वोट शेयर (21.6%)

छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की बंपर जीत हुई है, पंद्रह साल से सत्ता पर काबिज बीजेपी 90 में सिर्फ 15 सीटों पर ही सिमट गई है. रमन सिंह ने हार ने हार की जिम्मेदारी लेते हुए इस्तीफा ले लिया है. एमपी और राजस्थान की तरह सभी की निगाहें कांग्रेस आलाकमान की ओर हैं कि छत्तीसगढ़ में किसे कुर्सी सौंपी जाएगी.

तेलंगाना: कुल सीट-119
टीआरएस- सीटें 88, वोट शेयर (46.6%)
कांग्रेस- सीटें 21, वोट शेयर (33.3%)
बीजेपी- सीटें 1, वोट शेयर (6.7%)
अन्य- सीटें 2, वोट शेयर (13.3%)

तेंलगाना में केसीआर की टीआरएस दोबारा सत्ता पाने में कामयाब रही. लोगों को कांग्रेस और टीडीपी का गठबंधन रास नहीं है. सूत्रों के हवाले से खबर है कि केसीआर कल मुख्यमंत्री पद की शपथ ले सकते हैं. बता दें कि असदुद्दीन ओवैसी भी केसीआर के समर्थन में थे और खुद को उनका सिपाही बता रहे थे.

मिजोरम: कुल सीट-40
कांग्रेस- सीटें 7, वोट शेयर (30.6%)
एमएनफ- सीटें 27, वोट शेयर (37.9%)
बीजेपी- सीटें 1, वोट शेयर (8.3%)
अन्य- सीटें 5, वोट शेयर (23.2%)

पूर्वोत्तर का आखिरी राज्य मिजोरम भी कांग्रेस के हात से निकल गया है. राज्य ने एमएनएफ पर भरोसा दिखाया है. वहीं बीजेपी एक सीट पाने में कामयाब रही है. कांग्रेस की हालत का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि पांच बार के सीएम पी ललथनहवला दो जगह से चुनाव लड़े और दोनों ही जगह से हार गए।

November 2020
M T W T F S S
« Oct    
 1
2345678
9101112131415
16171819202122
23242526272829
30