सिविल अस्पताल नेरवा खुद बीमार, सुविधाओं के अभाव में मरीज़ों को 150 किलोमीटर दूर IGMC का करना पड़ रहा है रुख।

सिविल अस्पताल नेरवा खुद बीमार, सुविधाओं के अभाव में मरीज़ों को 150 किलोमीटर दूर IGMC का करना पड़ रहा है रुख।

सुरेश रंजन

न्यूज़ टुडे हिमाचल,7 जुलाई नेरवा: उपमंडल चौपाल का सिविल अस्पताल नेरवा नाम का सिविल अस्पताल है अस्पताल के अंदर सुविधाएं प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र जैसी है। यह अस्पताल 25 पंचायतों का केंद्र बिंदु है तथा यहां पर 25 पंचायतो के लोग अपना स्वास्थ्य की जांच करवाने के लिए आते हैं लेकिन अस्पताल के अंदर स्वास्थ्य सुविधा ना होने के कारण उन्हें मजबूरन प्राइवेट क्लीनिक का सहारा लेना पड़ता है अस्पताल के अंदर बेसिक टेस्ट ईसीजी अल्ट्रासाउड जैसी सुविधाएं नहीं है अल्ट्रासाउंड जैसी सुविधाओं के लिए जनता को यहां से लगभग 150 किलोमीटर दूर शिमला जाना पड़ता है। अस्पताल के अंदर डॉक्टरों की कमी है पिछले 5 सालों से नेरवा में बीएमओ का पद रिक्त चला हुआ है इसलिए जो डॉक्टर नेरवा में आते हैं उनमें से एक डॉक्टर को आफ शेटिंग बीएमओ का चार्ज दिया जाता है। ज्ञात सूत्रों के मुताबिक नेरवा में मेडिसिन साइड से डॉक्टर प्रेम चौहान की नियुक्ति की गई है लेकिन उनके पास काफी समय से बीएमओ का चार्ज है जिससे कि वह अपनी सेवाएं देने में असमर्थ रहते हैं और वह मरीजों को नहीं देख पाते अस्पताल के अंदर मात्र 5 कमरे हैं जिसमें कि मरीजों के लिए दो कमरे हैं जिसमें की मात्र चार बेड लगे हुए हैं तथा मजबूरन एक बेड पर 3 मरीजों को लेटना पड़ रहा है। सिविल अस्पताल नेेरवा में नए भवन का निर्माण हो रहा है जो कि काफी समय पहले से निर्माणाधीन है सिविल अस्पताल नेरवा का कांग्रेस सरकार के समय भी दो बार अपग्रेड करने का शिलान्यास किया गया उसके बाद बीजेपी सरकार के कार्यकाल में भी इसे अपग्रेड किया गया लेकिन दशा आज भी ज्यों की त्यों बनी हुई है यदि कोई जरा सी घटना या एक्सीडेंट हो जाता है तो उसे प्रथम उपचार देने के बाद तुरंत शिमला रेफर कर दिया जाता है सिविल अस्पताल नेरवा के अंदर स्वास्थ्य उपकरण ना होने के कारण कई बार मरीज आधे रास्ते में ही भगवान को प्यारा हो जाता है लेकिन यहाँ के नेताओं को इन सब चीजों से क्या लेना देना है वह तो सिर्फ वोटों के लिए अपनी राजनीति करते हैं तथा चुनाव के दौरान जनता के बीच आकर झूठी घोषणा की बौछार करते हैं जिसका खामियाजा आज यहाँ की जनता को भुगतना पड़ रहा है नेरवा की जनता में इन नेताओं के खिलाफ काफी रोष है स्थानीय लोगों ने सरकार से मांग की है कि यदि नेरवा कें अंदर जल्द से जल्द नया भवन बना कर तैयार नहीं किया जाए तथा अस्पताल के अंदर सभी स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध करवाई जाए। सूत्रों के मुताबिक कुछ समय पहले नेरवा में एक्सरे मशीन आई है परंतु टेक्नीशियन ना होने के कारण वह स्टोर में पड़ी हुई है। हालत आज भी वैसे है यदि बिजली चली जाती है तो अस्पताल के अंदर जनरेटर की भी कोई सुविधा नहीं है मरीजों को कैंडल जलाकर गुजारा करना पड़ता है प्रधान ग्राम पंचायत नेरवा बबीता उप प्रधान बेबी जिंटा प्रधान व्यापार मंडल नेरवा राजीव बिखटा उप प्रधान दिनेश अमरेट सचिव जगत चौहान प्रधान बुद्धिजीवी प्रकोष्ठ नेरवा मोही राम चौहान उपप्रधान मोहन सूर्यवंशी सचिव हेमंत ठाकुर ने सरकार से मांग की है कि जल्द से जल्द सिविल अस्पताल नेरवा के अंदर सभी स्वास्थ्य सेवाएं मुहैया कराई जाए तथा निरवा के अंदर रेगुलर बीएमओ की नियुक्ति की जाए।

September 2021
M T W T F S S
« Aug    
 12345
6789101112
13141516171819
20212223242526
27282930  
x

Check Also

देहा से सेब लदकर गया केंटर टोंस नदी में गिरा,चालक लापता। जगदीश चौहान

🔊 Listen to this देहा से सेब लदकर गया केंटर टोंस नदी में गिरा,चालक लापता। जगदीश चौहान न्यूज़ टुडे हिमाचल ...